About Us

जै माताजी की हुकम,

          आज दिनांक १३ अक्टूबर २०१५ नवरात्री स्थापना के शुभ दिन माँ जगदम्बा की कृपा से www.charans.org आपकी सेवा में प्रस्तुत है। इंटरनेट पर चारणों के बारे में बहुत कम जानकारी उपलब्ध है तथा जितनी है वो भी यत्र तत्र बिखरी पड़ी है। प्रस्तुत वेबसाईट “चारण” के गौरवशाली अतीत की समस्त जानकारियों को एकत्र करके उसे सुनियोजित रूप से प्रदर्शित करने का एक प्रयास है ताकि न केवल हमारे समाज अपितु अन्य सभी वर्गों तक यह जानकारी सुलभ हो सके।

          charans.org टीम कोई साहित्यिक टीम नहीं है। यह विशुद्ध रूप से एक तकनीकी टीम है। चारण साहित्य के विशाल वट वृक्ष को सुनियोजित तरीके से प्रदर्शित करने का कार्य आपके सहयोग के बिना इस टीम के लिए असंभव है। जो भी सामग्री आपको इस साईट पर नज़र आ रही है वो आप सज्जनो द्वारा ही अलग अलग जगह इन्टरनेट/सोशल मीडिया पर सहेजी हुई है अथवा ईमेल या अन्य माध्यमो द्वारा हम तक पहुँचाई गई है, जिसे एकत्र करके यहाँ प्रदर्शित किया गया है।

          एक तकनीकी टीम होने के नाते हमसे साहित्यिक गलतियां होनी स्वाभाविक है। आप सभी विद्वान स्वजन हमारे दर्पण हैं। यदि कोई भी सज्जन इस साईट पर प्रदर्शित किसी भी सामग्री से असहमत हो तो कृपया admin@charans.org पर ईमेल द्वारा अपनी प्रतिक्रिया भेजें। आपकी हर प्रतिक्रिया हमारा मापदंड होगी तथा आपका हर सुझाव हमें सही दिशा की ओर प्रेरित करेगा ऐसा हमारा विश्वास है। आप सभी इस टीम के हिस्सेदार हैं। यह साईट आप सभी को समर्पित है।

          charans.org को संस्थागत रूप से चलाने की कार्यविधि निम्न प्रकार से प्रस्तावित है। आप सभी के सुझाव सादर आमंत्रित हैं।

  1. charans.org को एक स्वतंत्र गैर सरकारी संघटन (NGO) के रूप में स्थापित किया जाएगा अथवा इसे समाज के किसी भी बड़े NGO के साथ एक घटक के रूप में समायोजित भी किया जा सकता है।
  2. charans.org हमेशा संस्थागत रूप से ही चले यह सुनिश्चित करने के लिए इसे चलाने का दायित्व एक executive board को देना प्रस्तावित है। इस executive board के सदस्यों की नियुक्ति charans.org के सदस्य गण करेंगे जो कि इसके विधान में लिखे प्रावधानों के अनुसार नियुक्त व संचालित होंगे।
  3. charans.org विशुद्ध रूप से एक सामाजिक संस्था है। इसका किसी राजनैतिक दल से संस्थागत सम्बन्ध न तो है और न ही भविष्य में कभी होगा। सामाजिक क्रिया कलापों के दायरे में रहकर ही यह अपना कार्य करेगी।
  4. इसका कार्य करने का तरीका मांडलिक होगा जिसकी अंतिम यूनिट एक गांव होगी। एक मंडल में एक या एक से अधिक गांव रह सकते हें जिसका निर्णय गांव में समाज के लोगों की संख्या, उनका शेक्षणिक स्तर तथा भोगोलिक परिस्थिति के आधार पर executive board निश्चय करेगा।
  5. हर मंडल का एक मंडल-प्रमुख होगा जो उसके अंतर्गत मंडल में आने वाले गांवों के बारे में जानकारी charans.org पर सहेजने के लिए उत्तरदायी होगा।
  6. charans.org पूर्ण रूप से गैर लाभकारी सामाजिक संस्था है अतः मंडल-प्रमुख का कोई मानदेय नहीं होगा तथा वह पूरी तरह से समाज-सेवक के रूप में अपना योगदान देगा।
  7. सभी मंडल-प्रमुख संस्थागत कार्यों के लिए Executive Board के प्रति जवाबदेह होंगे परन्तु सहित्यिक सामग्री की प्रामाणिकता सुनिश्चित करने के लिए समाज के अन्य विद्वानों की राय के आधार पर ही निर्णय लिए जायेंगे।
  8. charans.org की पहले से कार्यरत किसी भी सामाजिक संस्था से कोई प्रतिद्वंद्विता नहीं है। यह एक समागम, एक portal है जो सभी सामाजिक संस्थाओं को अपना कार्य इस पर दिखाने के लिए आमंत्रित करता है।
  9. charans.org का विषय क्षेत्र निम्नलिखित प्रस्तावित है जो कि समयानुरूप बदल सकता है:-
    1. चारण-साहित्य को एकत्र करके नियोजित रूप से प्रदर्शित करना।
    2. चारण देवियों / महापुरुषों / कवियों / इतिहासकारों तथा गणमान्य लोगों की जानकारी केंद्रित करके व्यवस्थित रूप से प्रदर्शित करना।
    3. चारणों से सम्बंधित एतिहासिक घटनाओं / प्रसंगों को digitize करके प्रदर्शित करना।
    4. चारणों से जुडी हुई अन्य विधाएं जैसे चिरजा इत्यादि को केंद्रीकृत करके प्रदर्शित करना।
    5. चारणों के गावों के बारे में जानकारी जुटाकर उसे google map पर लिंक करना तथा साईट पर प्रदर्शित करना।
    6. वर्तमान चारण समाज की महत्वपूर्ण घटनाओं को एक डिज़िटल समाचार पत्र की तरह प्रदर्शित करना।
    7. चारण समाज की ऑनलाइन एड्रेस बुक (Online Telephone Directory) बनाकर उसे अपडेट करने तथा डाउनलोड करने का तंत्र विकसित करना।
    8. चारण समाज में विवाहयोग्य युवाओं की जानकारी केंद्रीकृत करने तथा उसे ऑनलाइन उपलब्ध करने की व्यवस्था विकसित करना।
    9. charans.org कभी किसी व्यक्ति अथवा सामाजिक रीति-रिवाज या घटना/दुर्घटना की आलोचना अथवा प्रशंसा अपनी ओर से साईट पर प्रदर्शित नहीं करेगा। समाज सुधार इसका अपना कार्यक्षेत्र कदापि नहीं है। यद्यपि अनेक सामाजिक संस्थाएं जो समाज सुधार के क्षेत्र में अच्छा कार्य कर रही है वे अपने नाम से अपने कार्यों को इस साईट पर अपने आरक्षित पेज पर अथवा समाचार की तरह प्रदर्शित कर सकती हैं। इसके लिए admin@charans.org पर संपर्क कर सकते हैं।

          उपरोक्त कार्यविधि अभी प्रस्तावित हैं। इसमें किसी भी तरह के सुधार के लिए आपके सुझाव सादर आमंत्रित हैं। अपने सुझावों को आप admin@charans.org पर ईमेल द्वारा भिजवाने की कृपा करें।

    जै माताजी की

(टीम charans.org)