रातीजगा चिरजा – पाबूजी / गोगाजी

।।रातीजगा चिरजा – पाबूजी / गोगाजी।।

भाइड़ा सकरो रे सेल संवारजो
भाइड़ा सकरो रे सेल संवारजो
म्हारा बैरियाँ री छाती में
दुसमण री छाती में दीजो रे
पाबूजी रे बीरो म्हारो छे
पाबूजी रे बीरो म्हारो छे
भाइड़ा केसर ने सिणगारजो
भाइड़ा देवल री प्रथ पालजो
म्हारी गायां ने पाछी ल्याजो रे
पाबूजी रे बीरो म्हारो छे
हाथ चट्यो पग पावड़ल्याँ
गेंदड़ल्या सा हाथ जी
आनंदपुर भई मानंदपुर
म्हारो धर्मी बीरो साथ
चोखी चारणियाँ ए
बाई म्हारी बेनड़ल्या ए
सात सवागणियाँ ए
आपाँ हिलमिल गोगो गास्याँ
सासू बहूआँ हिल मिल गावे,
द्योर जेठाणियाँ हिल मिल गावे
नणद भोजाइयाँ हिल मिल गावे,
काकी जेठूतियाँ हिल मिल गावे
माँ और बेटियाँ हिल मिल गावे,
बेनाँ बेनाँ हिल मिल गावे
दादी पोतियाँ हिल मिल गावे,
नानी दोयतियाँ हिल मिल गावे
गोत कड़ूंबो हिल मिल गावे,
आड़ोसी पड़ोसी हिल मिल गावे
गावे सो ही पावे
बाई म्हारी अमर चूड़लो पावे
बाई म्हारी गोद जड़ूल्यो पावे
चोखी चारणियाँ ए
बाई म्हारी बेनड़ल्या ए
सात सवागणियाँ ए
आपाँ हिलमिल गोगो गास्याँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *