भवानी नमो – हिंगऴाजदानजी कविया सेवापुरा

।।छंद भुजंगप्रयात।।

भवानी नमो स्वच्छ श्रृंगार अंगा।
भवानी नमो सुन्दरी शिम्भु संगा।
भवानी नमो कासरिद्रारी हन्ता।
भवानी नमो आसि आभा अनंता।।1।।

भवानी नमो ब्रह्मजा बुध्दि धामा।
भवानी नमो शिम्भु संहारि स्यामा।
भवानी नमो भूत कैलास बासी।
भवानी नमो ओज अम्भोज आसी।।2।।

भवानी नमो तारनी बारि द्रोनी।
भवानी नमो मत्त मातंग गोनी।
भवानी नमो ईशता दान दाता।
भवानी नमो रूद्ररानी विख्याता।।3।।

भवानी नमो राग कंजात नैनी।
भवानी नमो दानवां दण्ड दैनी।
भवानी नमो चंण्ड के प्रान हानी।
भवानी नमो सिन्धुजा राजरानी।।4।।

भवानी नमो दच्छ लोकेश छोनी।
भवानी नमो जोग निद्रा अजोनी।
भवानी नमो जोगनी जुथ्थ सथ्थी।
भवानी नमो भैरवी बीस हथ्थी।।5।।

भवानी नमो जोति ज्वाला अखंडी।
भवानी नमो चंचला रूप चंडी।
भवानी नमो ब्रह्मनी ब्रह्म बामा।
भवानी नमो मैथली राम रामा।।6।।

भवानी नमो नित्य शोभा नवीनी।
भवानी नमो भीम तें प्रेम भीनी।
भवानी नमो मुंडहा मान मत्ती।
भवानी नमो राधिका कान्हरत्ती।।7।।

भवानी नमो मेदनी भार भंगा।
भवानी नमो भारती नील रंगा।
भवानी नमो नाग बेधी अरोहा।
भवानी नमो दैत्य संदोह द्रोहा।।8।।

भवानी नमो कच्छपी स्वान भासा।
भवानी नमो ऐन ईशान आसा।
भवानी नमो ब्योम गंगा बलच्छा।
भवानी नमो चेतना देंन दच्छा।।9।।

भवानी नमो धारनी शूल धारा।
भवानी नमो तेज संघात तारा।
भवानी नमो मोहनी मुंडमाली।
भवानी नमो काल क्रव्यादि काली।।10।।

भवानी नमो सत्य आलाप बाला।
भवानी नमो वृन्द विद्या विशाला।
भवानी नमो देव हेरम्भ माता।
भवानी नमो तन्नमो सनत त्राता।।11।।

दहूं बांह जोरै कहूं बुध्दि दीजै।।
कृपाली कवि लालसा सिध्द कीजै।।

~~हिंगऴाजदानजी कविया सेवापुरा
प्रेषक: राजेंन्द्रसिंह कविया संतोषपुरा सीकर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *