पतियारो

कुड़कै में फसियोड़ो
धसियोड़ो धरती में
हांफल़तो
झांफल़ा खावतो सो
आकल़ -बाकल़ सो
तड़फड़तो सो लागै पतियारो।
अणसैंधौ
अणखाणो सो
अणसुल़झ्यो
अणमातो
अमूझ्योड़ो सो
डरियोड़ो
घिरियैड़ो अभमानू सो
कड़ियां तूट्योड़ो
कूट्योड़ो झांफां सूं
खुरड़ा खोतरतो
गिरणतो सो लागै पतियारो।
मनड़ै सूं बिड़क्योड़ो
भिड़क्योड़ो बातां सूं
घातां सूं उथप्योड़ो
जाजम पर झिड़क्योड़ो
सैंधां रै लूट्योड़ो
चूंट्योड़ो चिमठ्यां सूं
भाखर सूं गुड़क्योड़ो
रड़वड़तो सो लागै पतियारो।
मचतो सो जोबन में
डेरां पर जचतो सो
रामतड़ी रचतो सो
कपट्यां सूं बचतो सो
गाडेसर थकियोड़ो
सरणाई तकियोड़ो
भरम्योड़ो बकतो सो
सरम्योड़ो लागै पतियारो।
इण घर सूं
उण घर तक
दर -दर रो होयोड़ो!
किणनै है ?
किणरो है?
कीकर है ?
कद है री विलल़ी सी बातां में
फसियोड़ो सिटल़ां री बस्ती में
विटल़ो सो लागै पतियारो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *